Breaking News

छात्रा ने गाना सुनते-सुनते दे दी जान!:दुपट्‌टे का फंदा बना पंखे से लटकी, कान में ब्लूटूथ; देर रात पी चाय, नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

मुजफ्फरपुर जिले के काजी मोहम्मदपुर थाना के पंखा टोली में CA (चार्टर्ड अकाउंटेंट) की तैयारी कर रही छात्रा ने आत्महत्या कर ली। उसका शव बंद कमरे में पंखे से लटकता हुआ मिला। दुपट्टे का फंदा बनाकर छात्रा पंखे से झूल गयी। लड़की के कानों में ब्लूटूथ लगा हुआ था। आशंका है कि शायद वह गाना सुन रही होगी। मृतक युवती की पहचान अंजली जायसवाल (23) के रूप में हुई है। उसके पिता अवधेश चौधरी किराना व्यवसायी हैं।

सूचना मिलने पर काजी मोहम्मदपुर थाना के सब इंस्पेक्टर शशि कुमार भगत मौके पर पहुंचे। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। कहीं कोई दूसरा रास्ता भी नहीं था। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया। पुलिस ने देखा कि युवती का लाश पंखे से झूल रहा है। दुपट्टा को चाकू से काटकर लाश को नीचे उतारा गया। युवती का हाथ और चेहरा काला पड़ चुका था। रूम की बारीकी से तलाशी भी ली गयी। वहां से दो मोबाइल फोन जब्त किया गया। पुलिस के मुताबिक, प्रथम दृष्टया में मामला सुसाइड का लग रहा है। लेकिन, कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

336x280 MilesWeb

देर रात चाय बनाकर पी थी
पुलिस जांच में पता लगा कि रात को उसने घरवालों के साथ खाना खाया था। इसके बाद वह कमरे में सोने चली गयी थी। फिर देर रात उठकर खुद से चाय बनाई और पी। कमरे से चाय का जूठा कप बरामद हुआ है। उसके कान में ब्लूटूथ लगा हुआ था। बेड पर CA की किताब और कॉपी खुली हुई थी। सब इंस्पेक्टर ने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि देर रात 1 से 2 बजे के बीच उसने आत्महत्या की होगी। इसलिए शरीर काला पड़ने लगा था।

यह भी पढ़े   मुजफ्फरपुर मे बैंक लूटते समय पुलिस और लुटेरे के बीच फायरिंग

एक मोबाइल का घरवालों को नहीं था पता
सब इंस्पेक्टर ने बताया कि युवती के पास दो मोबाइल फोन थे। जिसके बारे में उसके घरवालों को जानकारी नहीं थी। दोनों मोबाइल में पैटर्न लॉक लगा था। इसलिए पुलिस उसे खोल नहीं पाई। एक मोबाइल पर बार-बार एक ही नम्बर से कॉल भी आ रहा था। हालांकि अफरा-तफरी के माहौल में पुलिस कॉल रिसीव नहीं कर सकी। उसके मोबाइल का लॉक तोड़वाकर जांच शुरू कर दी गयी है। छात्रा के फोन पर आखिरी कॉल किसका आया था। ये पता किया जा रहा है। इसी से घटना की गुत्थी सुलझेगी।

कोचिंग में भी होगी पूछताछ
परिजन ने पुलिस को बताया कि अंजली एक कोचिंग में पढ़ाई करने जाती थी। पुलिस उस कोचिंग में जाकर भी पूछताछ करने की कवायद में जुट गई है। ताकि इस घटना के पीछे का कुछ सुराग मिल सके। अब तक थाना में परिजन की तरफ से आवेदन नहीं दिया गया है। पुलिस अपने स्तर से आगे की जांच में जुट गई है। घटना के पीछे कई तरह की चर्चा हो रही है। लेकिन, परिजन के बयान और मोबाइल कॉल डिटेल्स से ही सब कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

ऐसे ही ताज़ा खबर पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज एवं ट्विटर पर फ़ॉलो जरूर करें आप हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप भी ज्वाइन कर सकते है


whatsapp cover